Articles in this section:
Factsheet Categories:

कार्यस्थल पर भेदभाव करना

कार्यस्थल पर भेदभाव तब होता है जब किसी व्यक्ति या लोगों के समूह के साथ उनकी पृष्ठभूमि या विशेष व्यक्तिगत विशेषताओं के कारण किसी अन्य व्यक्ति या समूह की तुलना में कम अनुकूल व्यवहार किया जाता है।

कॉमनवेल्थ और राज्य भेदभाव कानून लोगों को उनके निम्न आधारों पर भेदभाव से बचाते हैं:

  • नस्ल, जिसमें रंग, राष्ट्रीय या जातीय मूल या आपकी अप्रवासी स्थिति( immigration status) शामिल है
  • लिंग, गर्भावस्था या वैवाहिक स्थिति और स्तनपान
  •  माता-पिता होने या देखभालकर्ता के रूप में स्थिति
  • आयु
  • विकलांगता
  • यौन रुझान, लिंग पहचान और इंटरसेक्स स्थिति
  • राजनीतिक विश्वास या औद्योगिक गतिविधि

 कार्यस्थल में, आपकी जाति, उम्र या अन्य व्यक्तिगत विशेषताओं या गुणों के कारण गलत व्यवहार किए जाने का मतलब कई चीजें हो सकता है। कुछ सामान्य उदाहरणों में शामिल हैं:

  • आपको नौकरी पर न रखने का चयन
  • अन्य कर्मचारियों की तुलना में आपके साथ अलग व्यवहार करना
  • आपको धमकाना या परेशान करना
  • अनुचित रूप से किसी और का पक्ष लेना
  • अपनी भूमिका या जिम्मेदारियों को गलत तरीके से बदलना
  • आपको नीचे पद पर करना या निकाल देना

भेदभाव एम्प्लॉयमेंट के किसी भी स्तर पर हो सकता है – साक्षात्कार और भर्ती प्रक्रिया से लेकर नौकरी से निकाले जाने तक। कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि यह कब होता है, भेदभाव करना अवैध है।

आपका एम्प्लॉइअर बिना किसी भेदभाव के आपके खिलाफ़ कुछ कार्रवाई कर सकता है। उदाहरण के लिए, आपका प्रदर्शन प्रबंधन(performance management) या अनुशासनात्मक कार्रवाई। लेकिन अगर ये क्रियाएँ किसी व्यक्तिगत विशेषता या गुण के कारण होती हैं, तो यह भेदभाव हो सकता है। आपके एम्प्लॉइअर को आपके साथ वैसा ही व्यवहार करना चाहिए जैसा वे किसी अन्य कर्मचारी के साथ करते हैं।

यदि आपको लगता है कि आपका प्रबंधक आपके साथ गलत व्यवहार कर रहा है, तो आपकी यूनियन आपको सलाह दे सकती है कि क्या करना है।

 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष भेदभाव

 भेदभाव प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों रूप से हो सकता है।

प्रत्यक्ष भेदभाव तब होता है जब कोई व्यक्ति ऊपर सूचीबद्ध व्यक्तिगत विशेषताओं में से किसी एक के कारण आपके साथ गलत व्यवहार करना चुनता है।

यह अक्सर हो सकता है क्योंकि एम्प्लॉइअर पक्षपाती है और यह मानता है कि आपकी व्यक्तिगत विशेषताओं या गुणों में से एक आपको नौकरी के लिए कम उपयुक्त बना देगा। उदाहरण के लिए, किसी कार्य के लिए किसी को नियुक्त नहीं करने का चुनाव करना क्योंकि वे एक महिला हैं।

अप्रत्यक्ष भेदभाव तब होता है जब आपका एम्प्लॉइअर उन नियमों या शर्तों को लागू करता है जो ऊपर सूचीबद्ध व्यक्तिगत लक्षणों में से एक के कारण आपको गलत तरीके से नुकसान पहुँचाते हैं। उदाहरण के लिए, अगले सप्ताह छुट्टी के बदले में सभी को देर से काम करने की आवश्यकता, किसी ऐसे व्यक्ति के साथ गलत तरीके से भेदभाव कर सकती है, जिसके ऊपर स्कूल से बच्चों को लेने जैसी देखभाल करने की जिम्मेदारियाँ हैं।

 अपवाद

 ऐसे कुछ उदाहरण हैं जिनमें भेदभाव उचित है। कभी-कभी यह सुनिश्चित करना आवश्यक भी हो जाता है कि सभी को समान अवसर मिले और कार्यस्थल सुरक्षित रहे। भेदभाव कानून के अन्तर्गत इन अपवादों की व्याख्या नीचे दी गई है।

धार्मिक संस्थान

 चर्च, धार्मिक स्कूल और अन्य संस्थान जो धार्मिक सिद्धाँतों के अनुसार चलते हैं, उन्हें भेदभाव कानून से कुछ छूट प्राप्त है। इसका मतलब यह है कि अन्य संस्थानों या एम्प्लॉइअरस के विपरीत, वे आपके धर्म, सेक्स, लिंग, वैवाहिक स्थिति, लिंग-भेद(sexuality) या माता-पिता होने की स्थिति के कारण आपके साथ भेदभाव कर सकते हैं यदि यह निर्धारित धार्मिक कारणों के लिए उचित रूप से आवश्यक है, तो।

व्यवहार में, ‘यथोचित रूप से आवश्यक’ भेदभाव के रूप में क्या मायने रखता है, यह निर्धारित करना कठिन हो सकता है। यदि आपको लगता है कि किसी धार्मिक संस्था द्वारा आपके साथ भेदभाव किया जा रहा है, तो अपनी यूनियन से बात करें कि क्या करना है।

बुनियादी आवश्यकताएँ

 बुनियादी आवश्यकताएँ किसी नौकरी के आवश्यक कर्तव्य हैं। कुछ परिस्थितियों में, किसी व्यक्ति को उसकी उम्र या विकलांगता के कारण नौकरी देने से मना करना गैरकानूनी नहीं है, अगर वह नौकरी की बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ है।

बुनियादी आवश्यकताएँ इस बात पर निर्भर करेंगी कि नौकरी क्या है। उदाहरणों में शामिल हैं किसी कार्य को उत्पादक रूप से करने की क्षमता, किसी टीम में प्रभावी ढंग से कार्य करने या सुरक्षित रूप से कार्य करने की क्षमता (नीचे स्वास्थ्य और सुरक्षा देखें)।

यह नहीं माना जाना चाहिए कि कोई व्यक्ति नौकरी की आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर सकता है। इसके बजाय, विकलांग लोगों या स्वास्थ्य की स्थिति का आकलन(assessment) उनकी नौकरी करने की वर्तमान क्षमता पर किया जाना चाहिए। एक एम्प्लॉइअर को यह भी विचार करना चाहिए कि क्या विकलांग व्यक्ति को काम करने में मदद करने के लिए उचित व्यवस्था की जा सकती है।

स्वास्थ्य और सुरक्षा

 यदि आप गर्भवती हैं, विकलांग हैं या कोई अन्य कारण है कि एक निश्चित कार्य करने से आपके स्वास्थ्य और सुरक्षा को ख़तरा हो सकता है, तो आपके साथ अलग व्यवहार करना निषिद्ध नहीं हो सकता है। उदाहरण के लिए – यदि आप गर्भवती हैं, तो एक एम्प्लॉइअर आपको शारीरिक रूप से माँग वाली नौकरी पर न रखने का विकल्प चुन सकता है।

हालांकि यह सरल लग सकता है, व्यवहार में इसका मतलब यह हो सकता है कि विकलांग लोगों और गर्भवती महिलाओं के साथ गलत व्यवहार किया जाता है, अक्सर जिससे नौकरी ढूंढना पहले से ही मुश्किल काम हो सकता है।

अगर आपको लगता है कि आपके साथ गलत व्यवहार किया जा रहा है, तो आपकी यूनियन आपको सलाह दे सकती है कि क्या करना है।

विशेष उपाय

लोगों के साथ अलग व्यवहार करना कभी-कभी यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक होता है कि सभी को समान अवसर दिए जा रहे हैं। उदाहरण के लिए, कुछ संगठन यह सुनिश्चित करने के लिए लिंग कोटा (gender quotas) का उपयोग करते हैं ताकि महिलाओं को पीछे न छोड़ा जाए।

यह सुनिश्चित करने के लिए कि संगठन उचित रूप से कार्य कर सकें, लोगों के साथ अलग व्यवहार करना भी आवश्यक है। यह विशेष रूप से सच है जब अधिकारहीन लोग या कमज़ोर समूह के लोग शामिल हों।

उदाहरण के लिए, एक संगठन जो मूल निवासी बच्चों को परामर्श प्रदान करता है, वह मूल निवासी काउन्सलरों को नियुक्त करना पसंद कर सकता है।

अगर मेरे साथ गैरकानूनी रूप से भेदभाव किया जा रहा है तो मैं क्या कर सकता/ती हूँ?

कार्यस्थल पर भेदभाव करना एक गंभीर मुद्दा है। ऐसी कई संस्थाएँ हैं जो कार्यस्थल पर भेदभाव करने से निपटती हैं और दोषी पाए जाने वाले एम्प्लॉइअरस को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

आप कहाँ रहते हैं और आप किस तरह के भेदभाव का अनुभव कर रहे हैं, यह निर्धारित करेगा कि आपकी मदद करने के लिए कौन सबसे उपयुक्त है। यदि आपको लगता है कि कार्यस्थल पर आपके साथ भेदभाव किया जा रहा है, तो स्थिति को संभालने के तरीके के बारे में सलाह लेने के लिए अपनी यूनियन से संपर्क करें।

यदि कार्यस्थल स्तर पर भेदभाव का समाधान नहीं किया जा सकता है, तो आप ऑस्ट्रेलियाई मानवाधिकार आयोग (Australian Human Rights Commission) या अपने राज्य के समान अवसर, मानवाधिकार, या भेदभाव-विरोधी आयोग के पास शिकायत दर्ज़ कर सकते हैं। इस पूरी प्रक्रिया में आपकी यूनियन आपको सहायता और प्रतिनिधित्व प्रदान कर सकती है।

यदि आपको किसी यूनियन से संपर्क करने के लिए में सहायता की आवश्यकता है, तो ऑस्ट्रेलियन यूनियनस सपोर्ट सेंटर से संपर्क करें।

Enter your email to access our expert workplace information

Almost two million union members have contributed to us providing this free workplace factsheet. Because you’ve read a few of our factsheets, we’re asking for your email address to keep reading. This is so we can keep you updated with the latest news and workplace advice.

Don’t worry: our factsheets will always remain free, thanks to the solidarity of the union movement.

View our Privacy Policy